Saturday, 12 July 2014

हिंदी शायरी फेसबुक

हर रोज़ बदलती हो तुम,
अपनी प्रोफाइल पिक्चर...
तुम कहीं ठहरो तो,
तब कोई पहचान बने...।।

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.