Thursday, 13 February 2014

लव शायरी

लव शायरी


अब  हो  गया  है  आदमी ,
बिकता है  जहां  प्यार भी  सामान  कि  तरह,
पहचान  भी  है  मुश्किल  मुखौटों  के  दौर  में,
दिखता  है  भेड़िया  भी  इंसान  कि  तरह I

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.