Tuesday, 7 January 2014

लव शायरी एस एम एस


वो सामने थी और हम पलके उठा ना सके;
चाहते थे पर पास उनके जा ना सके;
ना देख ले वो अपनी तस्वीर हमारी आँखों में;
बस यही सोच कर हम उनसे नज़रे मिला ना सके।

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.