Saturday, 30 November 2013

लव शायरी


लव शायरी

ये दिल न जाने क्या कर बैठा
मुझसे बिना पूछे ही फैसला कर बैठा
इस ज़मीन पर टूटा सितारा भी नहीं गिरता
और ये पागल चाँद से मोहब्बत कर बैठा....

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.