Sunday, 24 January 2016

दर्द भरी लाइन







अगर वो मांगते…


अगर वो मांगते हम जान भी दे देते,
मगर उनके इरादे तो कुछ और ही थे,
मांगी तो प्यार की हर निशानी वापिस मांगी,
मगर देते वक़्त तो उनके वादे कुछ और ही थे |

Sunday, 6 December 2015

शायरी इन हिंदी

 

अगर वो मांगते…

अगर वो मांगते हम जान भी दे देते,
मगर उनके इरादे तो कुछ और ही थे,
मांगी तो प्यार की हर निशानी वापिस मांगी,
मगर देते वक़्त तो उनके वादे कुछ और ही थे |

तनहाई कविता


तनहाई में फरियाद…

तनहाई में फरियाद तो कर सकता हूँ,
वीराने को आबाद कर सकता हूँ,
जब चाहूँ तुम्हे मिल नहीं सकता,
लेकिन जब चाहूँ तुम्हे याद कर सकता हूँ | #शायरी

Thursday, 3 December 2015

बारिश पर हिंदी कविता


Rimjhim barsati barsaat mein
Milane jab bhi tum aati ho
Pani ki yeh bondein tum par
Kyun itna sitam mujh per dhati ho

Jhoolti hain tumhare balo par
Palkon par attak kahin jaati hain
Galon ko tumhare chhute hue
Gale se lipat si aati hain
Najar hamari behakti hai
Dil ki dhadkan badh jaati hai
Bohat jalta hai yeh man
Boond jab tumahre seene mein chhup jaati hai

Tadap kar jalta hai yeh dil
Boond ban jaane ko man karta hai
Barish ki boond ki tarah
Tere seene se lipat jaane ko dil karta hai...

बारिश की कविता


Bin badal barsaat nahin hoti,
Suraj doobe bina raat nahin hoti,
Ab kuchh aise haalat hain hamare ki,
Aapko dekhe bagair din ki shuruwat nahin hoti.

Tuesday, 1 December 2015

हुस्न की तारीफ शायरी


तेरे चेहरे को…

तेरे चेहरे को कभी भुला नहीं सकता,
तेरी यादों को भी दबा नहीं सकता,
आखिर में मेरी जान चली जायेगी,
मगर दिल में किसी और को बसा नहीं सकता |

Saturday, 28 November 2015

टूटे हुए दिल की शायरी


लोग अपना बना…

लोग अपना बना के छोड़ देते हैं,
अपनों से रिशता तोड़ कर गैरों से जोड़ लेते हैं,
हम तो एक फूल ना तोड़ सके,
नाजाने लोग दिल कैसे तोड़ देते हैं |